नई दिल्ली : जिम्बाब्वे की एक रैली में कथित रूप से राष्ट्रपति इमरसन मननगागवा को निशाना बनाकर किए गए हमले में कम से कम 41 लोग जख्मी हो गए। इस घटना में राष्ट्रपति बाल-बाल बच गए, लेकिन 2 उपराष्ट्रपति घायल हो गए।

कुछ इंच की दूरी पर फटा बम

राष्ट्रपति इमरसन ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए कहा, ‘बम मुझसे सिर्फ कुछ इंच की दूरी पर फटा, लेकिन अभी मेरा समय पूरा नहीं हुआ है।’

सोशल मीडिया पर आए फुटेज में दिखाया गया है कि राष्ट्रपति जब व्हाइट सिटी स्टेडियम में मंच की सीढ़ियों से उतर रहे हैं उसी वक्त विस्फोट हुआ और धुआं निकलने लगा।

संबंधित इमेज

दोनों उपराष्ट्रपति जख्मी

वहीं, इस घटना के बारे में जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्री डेविड पेरिरेनयातवा ने कहा कि रैली में हुए इस हमले में घायल लोगों का इलाज शहर के 3 मुख्य अस्पतालों में किया जा रहा है। इस हमले में उपराष्ट्रपति केम्बो मोहादी और कांसटैनटिनो चिवेंगा भी जख्मी हो गए।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, केम्बो मोहादी के पैर में चोट लगी है जबकि चिवेंगा के चेहरे पर जख्म हुआ है। हालांकि दोनों उपराष्ट्रपति खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं।

राष्ट्रपति घायलों को देखने अस्पताल पहुंचे

अभी तक ब्लास्ट में घायल लोगों की सही-सही संख्या का पता नहीं चल पाया है। वहीं, राष्ट्रपति इमरसन घटना के बाद घायलों को देखने के लिए अस्पताल भी गए। उन्होंने कहा, ‘अपने ऊपर ऐसे हमलों का मैं आदी हो चुका हूं।’ साथ ही उन्होंने इस हमले को बेवकूफाना करार देते हुए घायल लोगों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की।

राष्ट्रपति पर हुए इस कथित हत्या के प्रयास के बाद जिम्बाब्वे की विपक्षी पार्टियों में भय व्याप्त है और उन्हें डर है कि कहीं सरकार की कार्रवाई के लपेटे में वे न आ जाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here