अगर आपके घुटने में दर्द होता है या आपके घुटने कमजोर हैं तो आपको कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए। आप अपनी दिनचर्या में कुछ व्‍यायामों का नियमित अभ्यास करके अपने घुटनों को मजबूत बना सकते हैं।

अक्सर ऐसा देखा जाता है कि हमारी रोजमर्रा की गतिविधियों में शामिल कुछ आदतों जैसे वॉकिंग, रनिंग, जंपिंग या सीढ़ियां चढ़ने से घुटने पर बहुत ज्यादा दबाव पड़ सकता है और घुटने धीरे धीरे कमजोर पड़ते जाते हैं। अगर आपके साथ ऐसा होता है तो आप नियमित तरीके से कुछ व्‍यायामों का नियमित अभ्यास कर अपने घुटनों को मजबूत बना सकते हैं।

मसल स्ट्रेचिंगघुटनों के दर्द से या कमजोर घुटनों को मजबूत बनाने के लिये मसल स्ट्रेचिंग एक बेहतरीन एक्सरसाइज मानी जाती है। कहा जाता है कि स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज में हैम्स्ट्रिंग स्ट्रेचिंग घुटने के लिए काफी अच्छी होती है।

साइकलिंग

साइकलिंग चाहे जिम में करें या खुले मैदान या सड़क पर चलाएं। आपकी इस आदत से आपके दोनों से घुटने मजबूत बनते हैं। साइकलिंग से पैर और घुटने मजबूत होते हैं और घुटने का अस्थिरज्जु और मसल्स भी मजबूत होते हैं।

स्टेप अप्सकहते हैं कि अगर आप स्टेपिंग या स्टेप अप्स करते हैं तो आपकी अच्छी खासी कसरत हो जाती है। यह एक कार्डियो एक्सरसाइज है, जिसके कई फायदे हैं। स्टेप अप एक्सरसाइज घुटने को गर्मी प्रदान करती है।

मैट एक्सरसाइजकुछ मैट एक्सरसाइज जैसे लेग लिफ्ट, नी लिफ्ट आदि लगातार करते रहने से घुटने को मजबूती मिलती है। इससे घुटने का दर्द भी कम होता है। मैट एक्सरसाइज एक ऐसा व्यायाम है जिसे आप घर पर भी कर सकते हैं।

फिजियोथेरेपिस्ट का मार्गदर्शन जरूरी

ऐसा कहा जाता है कि आप अपने घुटनों बेहतर तरीके से खयाल रखना चाहते हैं तो जिम में एक्सपर्ट्स व फिजियोथेरेपिस्ट के निर्देशन में ही एक्सरसाइज करना चाहिए। नियमित रूप से डॉक्टर या फिजियोथेरेपिस्ट द्वारा बताए गए घुटनों के विशिष्ट व्यायाम करना फायदेमंद होता है और आप अनावश्यक परेशानियों से बच सकते हैं।

वजन पर कंट्रोल

अगर आपके घुटने में परेशानी हो रही है तो आपको अपने वजन को उम्र, ऊंचाई एवं शारीरिक बनावट के हिसाब से बनाए रखना चाहिए। इसके लिए प्रिवेंटिव फिजियोथेरेपी के अन्तर्गत विशेष व्यायाम करना चाहिए। अपना वजन नियंत्रित रखें क्योंकि ज्यादा वजन से घुटने तथा कूल्हों पर दबाव पड़ता है।

आराम भी जरूरीजिस किसी के घुटने में परेशानी हो तो उसे 1 से डेढ़ घंटे लगातार खड़े रहने के बाद या काम करने के घुटनों को 5 से 10 मिनट का आराम देना चाहिए। इसके अलावा चप्पल व जूते आदि सही आकार-प्रकार का बेहद ध्यान रखना चाहिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here