कानपुर: जीएसटी और राष्ट्रव्यापी सामान्य मूल्य की लड़ाई को लेकर ट्रांसपोर्टर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। उन्हीं की हड़ताल को समर्थन देने के लिए शुक्रवार को अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल भी सड़कों पर उतर आया। व्यापारियों और ट्रांसपोर्टरों ने मिलकर लखनऊ फाटक पर ट्रेन को रोककर प्रदर्शन किया। ट्रेन रोके जाने की सूचना पर पुलिस प्रशासन में हड़कम्प मच गया। सूचना पर पुलिस पहुंची और व्यापारियों को समझा बुझाकर ट्रैक से हटवाया गया। लगभग बीस मिनट बाद ट्रेन वहां से रवाना हो सकी।

ट्रांसपोर्टरों की तरफ से हड़ताल की शुरूआत कर दी गई है। कुछ दिन पहले तमाम व्यापार मंडलों ने भी इसके समर्थन में आने का ऐलान कर दिया था। उसी के मद्देनजर शुक्रवार सुबह ट्रांसपोर्टरों के साथ मिलकर अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के पदाधिकारी और ट्रांसपोर्टरों समेत लगभग 200 से अधिक व्यापारी लखनऊ फाटक रेलवे ट्रैक पर पहुंच गए।

सुबह 10 बजे वहां से अनन्या एक्सप्रेस के गुजरने का समय होता है। व्यापारियों और ट्रांसपोर्टरों ने मिलकर ट्रेन को रोक लिया। जीएसटी और राष्ट्रव्यापी सामान्य मूल्यों को लेकर उन्होंने सरकार विरोधी नारेबाजी की। ट्रेन रोके जाने की सूचना पर प्रशासन और पुलिस के अफसर भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने व्यापारियों को समझा बुझाकर ट्रैक से हटवाया।

ट्रेन रोकने में अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडर के महामंत्री ज्ञानेश मिश्रा, यूपी मोटर्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष सतीश गांधी, कोषाध्यक्ष एबी त्रिपाठी, युवा ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष श्याम शुक्ला के अलावा सुनील मिश्रा, आकाश यादव, सचिन त्रिवेदी, प्रकाश, सतीश, सौरभ सक्सेना, महिपाल, राजेनद्र सिंह आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here