अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में एक मतदाता पंजीकरण केंद्र पर आत्मघाती धमाके में 31 लोगों की मौत हो गई है। इस धमाके में मतदान पंजीकरण केंद्र के बाहर पंजीयन कराने के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे लोगों में 50 लोग जख़्मी हुए हैं। इस्लामिक स्टेट ग्रुप ने अपनी न्यूज़ एजेंसी अमाक़ के हवाले से कहा है कि इस धमाके को इस्लामिक स्टेट ने अंजाम दिया है।

अफ़ग़ानिस्तान में अक्टूबर महीने में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए इस महीने से मतदाता पंजीकरण का काम शुरू हुआ है। कयास लगाए जा रहे हैं कि ये हमला अफगानिस्तान में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों में अड़चन डालने के लिए किया गया है। मारे गए लोग अपना वोटर रजिस्ट्रेशन कार्ड लेने के लिए लाइन में लगे हुए थे। तभी हमलावर वहां पहुंचा और खुद को धमाके से उड़ा दिया।

मंत्रालय ने की 31 मौत की पुष्टि

स्थानीय मीडिया ने अफगानिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता वाहिद मजरूह के हवाले से हमले में 31 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है। अफगानिस्तान में अगले साल राष्ट्रपति चुनाव होने हैं। इसके लिए 4 अप्रैल को वोटर रजिस्ट्रेशन शुरू हुआ था। इस चुनाव के विरोध में आतंकियों ने आम लोगों और अफसरों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है। इससे पहले शुक्रवार को आतंकियों ने बादघिस में वोटर रजिस्ट्रेशन सेंटर पर रॉकेट से हमला किया था। इसमें एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई थी। पिछले हफ्ते भी कबाइली इलाके में आतंकियों ने हमला कर तीन चुनाव अधिकारियों और और दो पुलिसकर्मियों को अगवा कर लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here