नई दिल्ली : स्‍टॉफ सेलेक्‍शन कमीशन (SSC) ने ‘जूनियर इंजीनियर’ (सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल और क्वांट सर्वे और कांट्रैक्ट) के पदों के लिए होने वाली परीक्षा के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है. लंबे समय से उम्मीदवार इस परीक्षा के नोटिफिकेशन का इंतजार कर रहे थे. आइए हम आपको बताते हैं परीक्षा में कैसे सवाल आएंगे और इस परीक्षा में शामिल होने के लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख क्या है.

जूनियर इंजीनियर के पदों पर आवेदन करने की प्रक्रिया 28 जनवरी 2019 से शुरू हो गई थी. उम्मीदवार 25 फरवरी 2019 तक आवेदन कर सकते हैं. उम्मीदवार केवल उन्हीं पदों को चुने जिनके लिए उनकी योग्यता है और वे निर्धारित आयु सीमा के भीतर हो.

ऑनलाइन फीस का भुगतान उम्मीदवारों को 27-02-2019 शाम 5 बजे तक किया जा सकता है. हालांकि, जो उम्मीदवार एसबीआई के चालान के जरिए फीस का भुगतान करना चाहते हैं, वे 28-02-2019 तक बैंक (कामकाजी घंटे के दौरान) में जाकर फीस भर सकते हैं, चालान 27 तारीख से पहले बैंक ने बना दिया हो. 01.01.2018 के अनुसार उम्मीदवारों की अधिकतम आयु 27-30 और 32 साल होनी चाहिए.

कैसी होगी परीक्षा

जूनियर इंजीनियर की परीक्षा लिए लिए दो पेपर आयोजित किए जाएंगे. पेपर 1 और पेपर 2. पेपर 1 कंप्यूटर आधारित वस्तुनिष्ठ (ऑब्जेक्टिव) प्रकार परीक्षा होगी. जो 23 सितंबर से 27 सितंबर, 2019 तक आयोजित की जाएगी. पेपर II (लिखित परीक्षा) 29 दिसंबर को आयोजित की जाएगी. परीक्षा पुरुष और महिला दोनों उम्मीदवारों के लिए आयोजित की जा रही है , लेकिन केवल पुरुष उम्मीदवार बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन (बीआरओ) में जूनियर इंजीनियरों के पदों के लिए योग्य हैं.

जैसा कि जूनियर इंजीनियर ग्रुप बी पद के लिए है. एक्स सर्विसमैन कैटेगरी के लिए कोई आरक्षण नहीं है. वहीं आयु-छूट का लाभ एक्स सर्विसमैन कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए मौजूदा सरकार के अनुसार नियम के अनुसार स्वीकार्य होगा.

कितने नंबर का होगा पर एक सेक्शन, जानें

पेपर 1 परीक्षा 200 अंकों की होगी. परीक्षा का समय 2 घंटे का होगा. जिसमें उम्मीदवारों को जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग 50 अंक के सवाल, 50 अंक के जनरल अवेयरनेस और 100 मार्क्स के जनरल इंजीनिरिंग के सवाल पूछे जाएंगे. जिसमें सिविल स्ट्रक्चर, जनरल इंजीनयिरिंग (इलेक्ट्रीकल और मैकेनिकल) के सवाल आएंगे.

जनरल इंजीनियरिंग सेक्शन में उम्मीदवारों को आवेदन फॉर्म भरने के दौरान केवल उनके चुने गए सेक्शन को अटेम्प्ट करना होगा. प्रत्येक गलत उत्तर के लिए उम्मीदवारों को 0.25 अंक का नुकसान होगा. यानी 0.25 अंक काट लिए जाएंगे।

 

वहीं जो उम्मीदवार जो कंप्यूटर-आधारित परीक्षा (पेपर- I) को पास करते हैं, लिखित परीक्षा (पेपर- II) के लिए बुलाया जाएगा. उम्मीदवारों को पेपर I और II के अंकों के आधार पर शॉर्टलिस्ट किया जाएगा.

 

 उम्मीदवारों की योग्यता कितनी होनी चाहिए

  • किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से सीविल इंजीनियरिंग और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में 3 साल का डिप्लोमा होना चाहिए।
  • किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान / विश्वविद्यालय / बोर्ड से सिविल इंजीनियरिंग में 3 साल का डिप्लोमा या फिर सर्वेयर (भारत) संस्थान से उप प्रभागीय II के भवन और मात्रा सर्वेक्षण में इंटरमीडिएट परीक्षा पास की हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here