केदारनाथ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार सुबह दीपावली के अवसर पर केदारनाथ धाम पहुंचे। यहां उन्होंने पूजन किया। इसके बाद उन्होंने पुननिर्माण के कार्यों का जायजा लिया। मोदी की केदारनाथ के प्रति विशेष आस्था है। संयान्स के दिनों में केदारनाथ से तीन किमी दूर गरुणचट्टी में रहते थे पीएम मोदी।

गुरुचट्टी से बिना चप्पलों के मंदिर में दर्शन करने के लिए मोदी जाया करते थे। प्रधानमंत्री बनने के बाद से यहां उनका तीसरा दौरा है। उनका यह दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। दरअसल, दीपावली के बाद केदारनाथ मंदिर के कपाट बंद कर दिए जाते हैं, इसके बाद यह तब खुलेंगे जब देश में नई सरकार के गठन को लेकर चुनाव की प्रक्रिया जारी रहेगी।

प्रधानमंत्री भारतीय वायु सेना के एक विशेष विमान से देहरादून पहुंचे। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने जॉली ग्रांट हवाईअड्डे पर उनका स्वागत किया। प्रधानमंत्री मोदी बुधवार सुबह को यहां पहुंचे और हेलीकॉप्टर से केदारनाथ के लिए रवाना हुए।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर सभी देशवासियों को दिवाली की शुभकामनाएं दीं। उन्होंने ट्वीट किया, ‘दीपावली की सभी देशवासियों को हार्दिक बधाई। मेरी कामना है कि प्रकाश का यह पावन पर्व सबके जीवन में सुख, शांति एवं समृद्धि लेकर लाए।’

हरसिल में भारतीय सशस्त्र बलों के जवानों से पीएम मोदी ने कहा, ‘बर्फीले क्षेत्र में भी अपने कर्तव्य के प्रति आपकी निष्ठा ही देश की शक्ति है। इसी वजह से 125 करोड़ देशवसियों का भविष्य और उनके सपने सुरक्षित रहते हैं। सेना प्रमुख बिपिन रावत ने मंगलवार को हरसिल का दौरा किया था और जवानों की तैयारियों की समीक्षा की थी।

गुरुवार से बंद हो जाएंगे कपाट

केदारनाथ धाम के करीब 400 मीटर ऊंचे स्थान पर बनी ध्यान गुफा प्रधानमंत्री दूर से देखा। गुरुवार से केदारनाथ के पट बंद हो जाएंगे। उत्तराखंड में मोदी का यह दसवां दौरा होगा। वर्ष 2013 में केदारनाथ में आई आपदा के दौरान मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब भी उन्होंने केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण की जिम्मेदारी उठाने का प्रस्ताव राज्य सरकार को दिया था।केदारपुरी में चल रही परियोजनाओं की प्रगति से अवगत कराने के लिए मंदिर परिसर में बने अतिथि गृह में उन्हें एक वीडियो भी दिखाया जाएगा। केदारपुरी पुनर्निर्माण परियोजना कार्यों का प्रधानमंत्री ने पिछले साल अपने भ्रमण के दौरान शिलान्यास किया था।

हर साल जवानों के साथ मनाई दिवाली

बताते चलें कि पिछले वर्ष पीएम मोदी कश्मीर के गुरेज सेक्टर में जवानों के बीच दीवाली मनाने पहुंचे थे। वर्ष 2014 में पीएम मोदी ने दीवाली सियाचिन में मनाई थी, जबकि 2015 में वह दीवाली मनाने डोगराई वॉर मेमोरियल पहुंचे थे। वर्ष 2016 की बात करें तो पीएम ने हिमाचल प्रदेश में दीवाली मनाई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here