लखनऊ/नई दिल्लीः विश्व हिन्दू परिषद की नेता साध्वी प्राची ने कहा है कि आगामी छह दिसंबर से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा. उन्होंने कहा कि 6 दिसंबर 1992 को ही ढांचा ढहाया गया था, लिहाजा इसी तारीख से श्रीराम मंदिर का शिलान्यास शुरू किया जाएगा.

बता दें कि दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आज से संतों का दो दिवसीय महासम्मेलन ‘धर्मादेश’ शुरू हो चुका है. यहां देश के करीब तीन हजार साधु-संत हिस्सा ले रहे हैं.

संत सम्मेलन में पहुंची विहिप की फायरब्रांड नेता साध्वी प्राची ने मंदिर निर्माण को लेकर न सिर्फ दिन बताया बल्कि तारीख का भी एलान कर दिया है. जय श्रीराम के नारे के उद्घोष के बीच उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद विध्वंस की तारीख से ही मंदिर निर्माण का कार्य शुरू होगा.

वहीं संत सम्मेलन में पहुंचे योग गुरू बाबा रामदेव ने कहा कि अगर कोर्ट के फैसले में देरी हुई तो संसद में जरूर राम मंदिर निर्माण के लिए बिल आएगा. उन्होंने कहा कि अगर राम जन्मभूमि पर भगवान राम का मंदिर नहीं बनेगा तो किसका मंदिर बनेगा. संतों और राम भक्तों ने संकल्प किया है, अब राम मंदिर में और देर नहीं. मुझे लगता है इसी साल शुभ समाचार देश को मिलेगा.

अयोध्या में मंदिर और लखनऊ में मस्जिद- वेदांती
संत सम्मेलन में पहुंचे राम जन्मभूमि न्यास के मुखिया राम विलास वेदांति ने कहा कि अगर सरकार मंदिर के संबंध में अध्यादेश लेकर आती है तो ठीक है, नहीं तो आपसी सहमति से राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा. उन्होंने कहा कि अयोध्या में भगवान श्री राम का मंदिर बनेगा और मस्जिद का निर्माण उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में किया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here