उज्जैन : प्रदेश की सियासत में मालवा-निमाड़ की काफी अहमियत है। ऐसे में इस बार प्रदेश में सरकार बनाने की कोशिश कर रही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दो दिनों के मालवा दौरे पर आए हैं। राहुल गांधी ने बाबा महाकाल के दर्शन से अपने दौरे की शुरुआत की। इसके बाद राहुल गांधी ने उज्जैन के दशहरा मैदान पर एक जनसभा को संबोधित किया।

मंगाया क्षिप्रा नदी का गंदा पानी

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि, “प्रदेश सरकार ने महाकुंभ का खर्चा दस गुना बढ़ाया और उस पैसे का बेजा इस्तेमाल हुआ। वहीं उन्होंने व्यापमं के मुद्दे पर भी प्रदेश सरकार को जमकर कोसा।” इतना ही नहीं राहुल गांधी ने क्षिप्रा शुद्धिकरण को लेकर हुए भ्रष्टाचार का भी मुद्दा उठाया।

उन्होंने कहा कि क्षिप्रा नदी को साफ करने के लिए 400 करोड़ खर्च हुए। लेकिन इतने पैसे खर्च करने के बाद भी क्षिप्रा साफ नहीं हुई है। ये बताने के लिए उन्होंने मंच पर ही क्षिप्रा नदी का गंदा पानी मंगा लिया।

मैं कोरे वादे नहीं करता : राहुल

वहीं राहुल गांधी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि, “मैं कोरे वादे नहीं करता हूं। प्रदेश में हमारी सरकार बनने के दस दिन के भीतर कांग्रेस किसानों का लोन माफ कर देगी और अगर मुख्यमंत्री इसमें कोई बहाने बनाते हैं, तो दूसरा सीएम किसानों का कर्जा माफ करेगा।”

राहुल गांधी ने कहा- ‘सीबीआई के डायरेक्टर राफेल डील की जांच शुरू करने जा रहे थे। जिससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जाता। प्रधानमंत्री ने इसी डर की वजह से सीबीआई डायरेक्टर को रात 2 बजे हटा दिया।’

उठाया महाकुंभ और बिजली का मुद्दा

कांग्रेस अध्यक्ष ने भी महाकुंभ का मुद्दा उठाया, उन्होंने कहा कि, “महाकुंभ में जमकर भ्रष्टाचार हुआ है। मांग उठ रही है कि सीबीआई जांच होनी चाहिए। लेकिन उसके चीफ को तो सरकार ने रात दो बजे ही निकाल दिया। ऐसे में कैसे जांच होगी। प्रदेश सरकार धर्म की बात करती है, लेकिन उनका धर्म भ्रष्टाचार है।”

इसके अलावा राहुल गांधी ने प्रदेश में बिजली बिल नहीं भरने की वजह से लोगों पर हुई कार्रवाई का जिक्र करते हुए कहा कि, “यहां एक महिला को बिना बिजली जलाए ही एक लाख का बिल थमा दिया गया था। वो बिल नहीं भर पाई तो जेल में डाल दिया गया।”

केंद्र सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर यहां राफेल डील का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि, “पीएम के फ्रांस दौरे के वक्त गए प्रतिनिधिमंडल में अनिल अंबानी उनके साथ गए थे और पीएम ने ही वहां की सरकार को अनिल अंबानी की कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट देने को कहा था।” अनिल अंबानी पर 45 हजार करोड़ का कर्जा है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने उज्जैन की अपनी सभा में केंद्र सरकार पर भी गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने सरकार से सवाल पूछा कि, आपने अपनी सेना के लिए क्या किया ? पंचायती राज खत्म कर दिया, जम्मू-कश्मीर को जला दिया और आतंकवादियों के लिए दरवाजे खोल दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here