लखनऊ : शारदा यूनिवर्सिटी से लापता कश्मीरी छात्र एहतेशाम बिलाल की आतंकी के तौर पर वायरल हो रही तस्वीरों पर डीजीपी ओपी सिंह ने बयान जारी किया है. डीजीपी ने एहतेशाम बिलाल की वायरल हुई तस्वीरों को भले ही तस्दीक न किया हो और उसके आतंकी बन जाने की पुष्टि न की हो, लेकिन कॉलेज से लापता होने के बाद मोबाइल लोकेशन से डीजीपी ने उसके झूठ को जरूर उजागर किया है.

दरअसल, ग्रेटर नोएडा की शारदा यूनिवर्सिटी में बैचलर ऑफ मैनेजमेंट एंड इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी का कोर्स कर रहे एहतेशाम बिलाल के आतंकी बनने पर हड़कंप मचा हुआ है. सोशल मीडिया पर एहतेशाम बिलाल की वायरल हो रही दो तस्वीरों के बाद माना जा रहा है कि वह कॉलेज में हुई मारपीट के बाद आतंकी बन गया है. इस्लामिक स्टेट ऑफ जम्मू कश्मीर के बैनर को हाथ में लेकर वायरल हुई तस्वीर में एहतेशाम बिलाल आईएसआईएस के अबू-अल-अल-बकर-बगदादी को अपना आदर्श बता रहा है.

वहीं वायरल हुई दूसरी तस्वीर में एहतेशाम बिलाल एसॉल्ट राइफल के साथ नजर आया है. वायरल हुई इन दोनों तस्वीरों को डीजीपी ओपी सिंह ने भले ही जांच का विषय बताकर तस्दीक न की हो, लेकिन डीजीपी ने साफ कहा कि कॉलेज में हुई मारपीट के बाद नोएडा पुलिस ने जब मोबाइल लोकेशन खगाली शुरू की तो पता चला है कि एहतेशाम बिलाल मारपीट के बाद फ्लाइट पकड़कर श्रीनगर गया था, जिसकी तस्दीक दिल्ली और श्रीनगर के एयरपोर्ट से मिले सीसीटीवी फुटेज में हो चुकी है.

डीजीपी ने बताया कि एहतेशाम बिलाल ने परिजनों को फोन पर खुद को नोएडा में ही होने की बात बताई. इसके साथ ही एहतेशाम बिलाल की लोकेशन कश्मीर के सोपोर की तरफ बढ़ने लगी. इन तमाम झूठ के उजागर होने के बाद डीजीपी ओपी सिंह ने एहतेशाम बिलाल के आतंकी होने की तस्दीक तो नहीं की, लेकिन इतना जरूर कहा कि एहतेशाम बिलाल अपने परिजनों से लगातार झूठ बोल रहा था और अब मामले की जांच कश्मीर पुलिस कर रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here