वाराणसी : पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र पहुंचे गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने पीएम पर तंज कसा कि अगर किसी को मां गंगा बुला सकती हैं तो मैं क्यों नहीं आ सकता? हार्दिक ने वाराणसी से चुनाव लड़ने की अटकलों को न तो पूरी तरह खारिज ही किया और न ही पुष्टि की. हालांकि उन्होंने इस बाबत सवाल पूछे जाने पर यह कहा वाराणसी से चुनाव लड़ने की बात आई तो वह मीडिया को सबसे पहले बताएंगे.

एसपी-बीएसपी गठबंधन को बताया लोकल मामला

उन्होंने कहा कि वे सत्ता विरोधी हैं और हमेशा रहेंगे. उन्होंने युवाओं और किसानों की समस्या समाधान के लिए लगातार काम करने और देश भर घूमने की बात कही. उन्होंने कहा कि देश के युवा और किसान अपने आपको ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं. उन्होंने एसपी और बीएसपी के गठबंधन को लोकल मामला बताया. उन्होंने कहा कि अगर यह गठबंधन प्रदेश की जनता के हित के लिए काम करेगा तो अच्छा रहेगा.

‘कांग्रेस को भूल जाइए, बीजेपी की बात करिए’

मायावती के देश में इमरजेंसी लगाने वाले बयान पर हार्दिक बोले कांग्रेस को भूल जाइए, बीजेपी ने पिछले चार वर्षों में क्या किया है, उसकी बात होनी चाहिए. हार्दिक से लोकसभा चुनावों का मुद्दा पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि देश के अलग-अलग हिस्से में अलग-अलग मुद्दा है और वे वहां जाकर उन मुद्दों को उठाएंगे.

उन्होंने कहा कि उन्होंने वाराणसी के कई इलाकों का दौरा किया है. उन्होंने दावा किया कि जनता के बीच मोदी के खिलाफ बहुत रोष है. उन्होंने दावा किया कि चुनावों में जनता अपना रोष बीजेपी और मोदी के खिलाफ दिखाएगी.

वाराणसी से चुनाव खड़े हो सकते है हार्दिक

बता दें कि ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि सपा-बसपा गठबंधन बड़ा सियासी संदेश देने के लिए हार्दिक पटेल को वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ अपना उम्मीदवार बना सकती है. कयास लगाए जा रहे हैं कि अगर हार्दिक पटेल लोकसभा चुनावों में वाराणसी से पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ खड़े होते हैं तो उन्हें सम्पूर्ण विपक्ष समर्थन दे सकता है.

वर्ष 2014 में मोदी के खिलाफ विपक्ष बिखरा हुआ था. तब आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविन्द केजरीवाल और कांग्रेस के अजय राय ने अलग-अलग चुनाव लड़ा था. वहीं एसपी और बीएसपी ने भी अपने अलग-अलग उम्मीदवार उतारे थे. लेकिन आगामी लोकसभा चुनावों में मोदी के खिलाफ विपक्षी एकता की चर्चा देखते हुए लग रहा है कि हार्दिक पटेल के नाम पर सहमति बन सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here