डिजिटल इण्डिया पर जोर देने वाले प्रधानमंत्री ने सीसीटीवी के दौर में खुद को देश का ‘चौकीदार’ बताया और प्रधानमंत्री होने के लाइन में लगे राहुल गाँधी ने ‘चौकीदार को चोर’ बता दिया।

आज भी देश में लाखों लोग चौकीदारी के काम से जुड़े हैं। सिक्योरिटी में तैनात रहने वाले गार्ड्स भी चौकीदार ही हैं जो पूरी ईमानदारी से अपनी ड्यूटी निभाते हैं लेकिन राहुल गाँधी ने अपनी राजनीति के चक्कर में इस पूरी जमात का अपमान कर दिया है।

खबर आई है कि महाराष्ट्र राज्य सुरक्षा रक्षक यूनियन ने पुलिस को शिकायत देकर कहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष ने ऐसा कहकर सारे चौकीदारों का अपमान किया है, लिहाजा उनके खिलाफ केस दर्ज किया जाए।

चौकीदार को चोर क्यों कहते हैं राहुल

रैलियों और रोड शो के दौरान राहुल गांधी अक्सर राफेल मामले का जिक्र करके लोगों को बता रहे हैं कि मोदी ने डील में भ्रष्टाचार करके अंबानी को फायदा पहुँचाया है। अंबानी जिओ वाले नहीं उनसे छोटे वाले। राहुल अपनी कांफ्रेंस से लेकर रैलियों तक में ‘चौकीदार चोर है’ के उच्चारण करते रहते हैं।

लेकिन अब ये उनपर भारी पड़ सकता है। क्योंकि देश में जो असली चौकीदार हैं उन्हें अपनी पेशे के आगे चोर लगाया जाना नागवार गुजर रहा है।

महाराष्ट राज्य रक्षक यूनियन ने पुलिस को शिकायती पत्र देते हुए कहा कि राहुल गांधी अक्सर कहते हैं कि चौकीदार चोर है। ऐसा कहकर वो सभी चौकीदारों का अपमान करते हैं, लिहाजा उनके खिलाफ केस दर्ज किया जाए। एमएमआरडीए ग्राउंड पर रैली के दौरान न सिर्फ राहुल ने खुद कई बार कहा कि चौकीदार चोर है बल्कि जनता को भी कहने के लिए कहा। इसके साथ ही यूनियन अध्यक्ष संदीप घुघे ने कहा कि पुलिस राहुल के खिलाफ केस दर्ज करे। ऐसा करने से वो भविष्य में चौकीदारों का अपमान करने से बचेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here